APJ Abdul Kalam's Birth Anniversary: APJ अब्दुल कलाम को क्यों कहा जाता है भारत के 'मिसाइल मैन'

APJ Abdul Kalam Birth Anniversary: आज भारत के पूर्व राष्ट्रपति और मिसाइल मैन कहे जाने वाले डॉ. एपीजे अब्दुल जी (Dr. APJ Abdul) की जयंती है. डॉ. एपीजे अब्दुल जी (Dr. APJ Abdul) न केवल भारत के राष्ट्रपति के रूप में बल्कि वैज्ञानिक क्षेत्र में अपना महत्त्वपूर्ण योगदान दिया...

APJ Abdul Kalam's Birth Anniversary: APJ अब्दुल कलाम को क्यों कहा जाता है भारत के 'मिसाइल मैन'

APJ Abdul Kalam Birth Anniversary: डॉ एपीजे अब्दुल कलाम (​​Dr. APJ Abdul Kalam) को भारत के 'मिसाइल मैन' (Missile Man) के रूप में जाना जाता है। वैज्ञानिक और विद्वान डॉ एपीजे अब्दुल कलाम (​​Dr. APJ Abdul Kalam) ने 2002 से 2007 तक भारत के 11 वें राष्ट्रपति के रूप में कार्य किया। रामेश्वरम के छोटे से गाँव से लेकर भारत के शीर्ष संस्थानों में काम करने और देश को कुछ सबसे उन्नत शस्त्रागार (advanced arsenal) देने से लेकर राष्ट्रपति भवन में सीट लेने तक, डॉ कलाम की जीवन कहानी ने लाखों लोगों को प्रेरित किया है।

APJ Abdul Kalam ko missile man kyu Kaha jata hai: भारत के वैज्ञानिक दुनिया का सबसे बड़ा नाम डॉ. ऐ पी जे अब्दुल कलाम (Dr. APJ Abdul Kalam), इनके जैसा वैज्ञानिक पाना भारत के लिए सौभाग्य की बात रही। कई वैज्ञानिक खोजें थी जिनमें इन्होंने अपना सहयोग प्रदान करके यह भारतीय विज्ञान के पन्नों में अमर हो गए। भूतपूर्व राष्ट्रपति स्व. डॉ कलाम जी (Dr. APJ Abdul Kalam) नवभारत के युवाओं के लिए प्रेरणा स्त्रोत हैं। इन्हें "मिसाइल मैन" (Missile Man) के नाम से भी जाना जाता है। यह नाम रखने के पीछे कारण था इनका न्यूक्लियर हथियारों के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान। इन्होंने "बैलिस्टिक मिसाइल" (Ballistic Missile) और "लांच व्हीकल टेक्नोलॉजी" (Launch Vehicle Technology) का भारत में कामयाब परीक्षण किया। डॉ कलाम जी (Dr Kalam ji) ने बहुत सी मिसाइल्स बनायी और वैज्ञानिक क्षेत्र में अपना महत्त्वपूर्ण योगदान दिया, यही कारण है की अब भी उन्हें मिसाइल मैन (Missile Man) के नाम से जाना जाता है।

मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार की भूमिका - Role of Chief Scientific Adviser

डॉ. अब्दुल कलाम जी (Dr. Abdul Kalam) ने भारत सरकार के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार की भूमिका भी निभाई थी। वो 1982 में, वह DRDO रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन के निदेशक बने। वहीं अन्ना यूनिवर्सिटी के जरिए उन्हें डॉक्टर की उपाधि से भी नवाजा गया। कलाम जी ने उस दौरान रक्षा मंत्री के वैज्ञानिक सलाहकार डॉ. वी.एस. अरुणाचलम के साथ एकीकृत निर्देशित मिसाइल विकास कार्यक्रम का प्रस्ताव भी तैयार किया। कलाम की अध्यक्षता में स्वदेशी मिसाइलों के विकास के लिए एक समिति भी बनाई गई थी। इसके पहले चरण के दौरान, मध्यम दूरी की धरातल (surface) से धरातल (surface) पर मार करने वाली मिसाइलों के विकास पर जोर दिया गया था। दूसरे चरण में सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल, टैंक रोधी और रीएंट्री एक्सपेरिमेंट लॉन्च व्हीकल (Rex) बनाने का प्रस्ताव था। पृथ्वी, त्रिशूल, आकाश, नाग नाम की मिसाइलों का भी निर्माण किया गया।

कई पुरस्कारों से सम्मानित - Awarded with many awards 

आपको बता दें कि डॉ एपीजे अब्दुल कलाम (Dr APJ Abdul Kalam) को 1981 में भारत सरकार के माध्यम से देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म भूषण और फिर 1990 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था। उन्हें 1997 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। वे भारत के तीसरे राष्ट्रपति थे। भारत के सर्वोच्च पद पर नियुक्ति से पहले देश को भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा। 27 जुलाई 2015 को इस महापुरुष ने दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया था, लेकिन वह आज भी लोगों के दिलों में मौजूद हैं.

आज, भारतीय इतिहास के महानतम वैज्ञानिक, विद्वान और भारत के 11 वें राष्ट्रपति की जयंती पर, यहां कुछ ऐसी फिल्में और वेब शो के बारे में बताएंगे, जिन्होंने डॉ एपीजे अब्दुल कलाम (​​Dr. APJ Abdul Kalam) की प्रेरणादायक यात्रा की झलक अपनी फिल्मों और वेब शो में दी है ।

राकेट्री - Rocketry

मैं कलाम हूँ - I am Kalam

रॉकेट बॉयज़ - Rocket Boys

एक छोटा सा सपना - A Little Dream

मेरे हीरो कलाम - My Hero Kalam

आपकी प्रतिक्रिया क्या है?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow