Nupur Sharma: राजस्थान में हत्या से पहले कई राज्यों में हिंसा, जानें नुपुर शर्मा के विरोध में कहां क्या हुआ?

राजस्थान के उदयपुर में नुपुर शर्मा का समर्थन करने पर एक व्यक्ति की गला काटकर हत्या कर दी गई। व्यक्ति सिलाई की दुकान चलाता था। बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले मृतक कन्हैयालाल ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर की थी।

Nupur Sharma: राजस्थान में हत्या से पहले कई राज्यों में हिंसा, जानें नुपुर शर्मा के विरोध में कहां क्या हुआ?

राजस्थान के उदयपुर में नुपुर शर्मा का समर्थन करने पर एक व्यक्ति की गला काटकर हत्या कर दी गई। व्यक्ति सिलाई की दुकान चलाता था। बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले मृतक कन्हैयालाल ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर की थी। गौरतलब है कि पूर्व भाजपा नेता नुपुर शर्मा द्वारा पैगबंर मोहम्मद साहब पर विवादित टिप्पणी का मामले को लेकर हिंसा का ये पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी कई राज्यों में उनकी टिप्पणी के विरोध में हिंसा हुई थी। इस रिपोर्ट में हम आपको बताएंगे कि नुपुर शर्मा मामले में अब तक क्या-क्या हुआ....


इस तरह शुरू हुआ विवाद? 
विवाद वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद मामले पर हो रही एक टीवी बहस के दौरान नुपुर द्वारा की गई टिप्पणी पर शुरू हुआ है। 27 मई को बहस के दौरान भाजपा के प्रवक्ता के तौर पर नुपुर ने आरोप लगाया कि कुछ लोग हिंदू आस्था का लगातार मजाक उड़ा रहे हैं। अगर यही है तो वह भी दूसरे धर्मों का मजाक उड़ा सकती हैं। नुपुर ने इसी दौरान कुरान का जिक्र कर मोहम्मद साहब पर टिप्पणी की। जिसपर विवाद शुरू हो गया। 
नुपुर का वीडियो वायरल होने के बाद पांच जून को भाजपा ने नुपुर शर्मा को पार्टी के सभी पदों से हटाते हुए प्राथमिक सदस्यता से भी निलंबित कर दिया। नुपुर के खिलाफ अलग-अलग जगहों पर एफआईआर दर्ज हो चुकी है। वहीं, नुपुर को मिल रहीं धमकियों को लेकर दिल्ली पुलिस ने भी एक मामला दर्ज किया है। दिल्ली पुलिस ने उन्हें सुरक्षा भी प्रदान की है।

इन देशों ने जताया विरोध
नुपुर की कथित विवादित टिप्पणी को लेकर दुनिया के कई मुस्लिम देशों ने अपना विरोध जताया है। इस लिस्ट में करीब 15 देश शामिल हैं। इनमें कतर, ईरान, इराक, कुवैत, इंडोनेशिया, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, मालदीव, ओमान, जॉर्डन, बहरीन, अफगानिस्तान और पाकिस्तान शामिल हैं। इसके अलावा भारत में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने चिट्ठी जारी कर नुपुर पर कानूनी कार्रवाई की मांग की है। हालांकि, सभी देशों को भारत की तरफ से जवाब भी दिया जा चुका है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने साफ कहा है कि देश में सभी धर्मों का सम्मान होता है। यहां हर धर्म के लोग रहते हैं और उन्हें धार्मिक स्वतंत्रता मिली हुई है। कुवैत में भारतीय उत्पादों को अपने स्टोर से हटा लिया गया।

अलकायदा ने दी आतंकी हमले की धमकी
छह जून को एक धमकी पत्र के जरिए आतंकवादी समूह अल-कायदा ने कहा है कि वह दिल्ली, मुंबई, उत्तर प्रदेश और गुजरात में आत्मघाती हमले शुरू करेगा। अलकायदा ने कहा, 'हम उन लोगों को मार देंगे जो हमारे पैगंबर का अपमान करते हैं।’ 

आपकी प्रतिक्रिया क्या है?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow