Shardiya Navratri 2022 Date: शारदीय नवरात्रि कब है? जानें मां दुर्गा की भक्ति की शुभ तिथियां और मुहूर्त

Sharadiya Navratri 2022: शक्ति की आराधना का पर्व शारदीय नवरात्रि 26 सितंबर 2022 (Sharadiya Navratri 2022 date) से शुरू हो रहा है और 5 अक्टूबर 2022 को ख़त्म हो जाएंगे। जानें घटस्थापना का शुभ मुहूर्त......

Shardiya Navratri 2022 Date: शारदीय नवरात्रि कब है? जानें मां दुर्गा की भक्ति की शुभ तिथियां और मुहूर्त

Sharadiya Navratri 2022: शक्ति की आराधना का पर्व शारदीय नवरात्रि 26 सितंबर 2022 (Sharadiya Navratri 2022 date) से शुरू हो रहा है और 5 अक्टूबर 2022 को ख़त्म हो जाएंगे। आपकी जानकरी के लिए बता दें की एक वर्ष में चार नवरात्र होते हैं, दो गुप्त (two secret) और दो प्रत्यक्ष (two direct)। हिन्दू पंचांग के अनुसार शारदीय नवरात्रि आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से प्रारंभ होती है। नौ दिनों तक चलने वाली शारदीय नवरात्रि में, देवी दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है और दसवें दिन दशहरा (Dussehra 2022) मनाया जाता है। नवरात्रि के पहले दिन शुभ मुहूर्त में घटस्थापना का विधान है। शुभ मुहूर्त में मां दुर्गा की पूजा करने से विशेष फल मिलता है। आइए जानते हैं घटस्थापना मुहूर्त और विधि के बारे में 

शारदीय नवरात्रि 2022 मुहूर्त (Sharadiya Navratri 2022 Muhurta)

शारदीय नवरात्रि - 26 सितंबर से 5 अक्टूबर
अश्विन शुक्ल पक्ष प्रतिपदा प्रताप - 26 सितंबर 2022, 3.24 AM
अश्विन शुक्ल पक्ष प्रतिपदा समापन - 27 सितंबर 2022, 03.08 AM
अभिजीत मुहूर्त - 26 सितंबर सुबह 11.54 बजे से दोपहर 12.42 बजे तक
घटस्थापना मुहूर्त - 26 सितंबर 2022, 06.20 AM - 10.19 AM

नवरात्रि घाट स्थापना विधि (Navratri Ghat Establishment Method)

नवरात्रि में देवी की पूजा का फल तभी मिलता है जब नियमों का पालन किया जाए। नवरात्रि के पहले दिन शुभ मुहूर्त में कलश स्थापना करें।
कलश स्थापना के लिए मिट्टी के बर्तन में पवित्र मिट्टी रखें और उसमें जौ बोएं।

कलश को पूजा स्थान या ईशान कोण में रखना शुभ माना जाता है। यहां गंगाजल छिड़क कर साफ करें। पूजा की चौकी पर लाल कपड़ा बिछाएं। इस पर मां दुर्गा का चित्र स्थापित करें।

गंगाजल या साफ पानी से भरा तांबे या मिट्टी का बर्तन भरें और उसमें सिक्के, अक्षत सुपारी, लौंग, दूर्वा घास डालें। मौली को कलश के मुख पर बांधें

नारियल पर लाल चुनरी को मोली से बांधें। कलश में आम के पत्ते डालकर इस नारियल को उस पर रख दें।

अब मां दुर्गा के फोटो के दाहिनी ओर जौ का घड़ा और कलश रखें। कलश स्थापना पूर्ण करने के बाद मां जगदम्बा की पूजा करें।


शारदीय नवरात्रि 2022 दिनांक (Sharadiya Navratri 2022 Date)

मां दुर्गा के नौ रूप और तिथियां (Nine Forms and Dates of Maa Durga)
26 सितंबर 2022 मां शैलपुत्री (1st day) प्रतिपदा तिथि
27 सितंबर 2022 मां ब्रह्मचारिणी (2nd day) 2 तारीख
28 सितंबर 2022 मां चंद्रघंटा (3rd day) तृतीया तिथि
29 सितंबर 2022 मां कुष्मांडा (fourth day) चतुर्थी तिथि
30 सितंबर 2022 मां स्कंदमाता (fifth day) पंचमी तिथि
1 अक्टूबर 2022 मां कात्यायनी (sixth day) षष्ठी तिथि
2 अक्टूबर 2022 मां कालरात्रि (seventh day) सप्तमी तिथि
3 अक्टूबर 2022 मां महागौरी (Eighth Day) दुर्गा अष्टमी
4 अक्टूबर 2022 सिद्धदात्री, (Ninth day) शरद नवरात्रि उपवास
5 अक्टूबर 2022 मां दुर्गा विसर्जन, दशमी तिथि (Dussehra)

आपकी प्रतिक्रिया क्या है?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow