Tu Kahin Aas Paas Hai Dost | Mohammed Rafi | Aas Paas 1981 Songs | (Last Song of Mohammed Rafi)

Tu Kahin Aas Paas Hai Dost lyrics, मोहम्मद रफी ने गाया है (1981) The music of Tu Kahin Aas Paas Hai Dost Sad track is composed by Laxmikant Shantaram Kudalkar (Laxmikant Pyarelal), Pyarelal Ramprasad Sharma (Laxmikant Pyarelal) while the lyrics are penned by Anand Bakshi...

तारे आने की आस हैं दोस्त
शाम फिर क्यों उड़ास हैं दोस्त
महकी महकी फ़िज़ा ये कहती है
तु कही आस पास हैं दोस्त
तू कही आस पास हैं दोस्त.

Tere ane ki as hai dost

Shaam fir kyon udaas hai

dost Mahaki mahaki

fiza ye kahati hai

Tu kahin as paas hai dost


मोहम्मद रफी के ये सांग भी सुने


1. Mohammad Rafi ji का बहुत ही प्यारा गीत: अजी दिल हो काबू मैं

2. Mohammad Rafi ji का बहुत ही प्यारा गीत: बापू की अमर कहानी


आपकी प्रतिक्रिया क्या है?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow