Story Of Ganesh Chaturthi: क्यों मनाई जाती है गणेश चतुर्थी, हिन्दू धर्म में क्या है इसका महत्व (Kyon Manaee Jaatee Hai Ganesh Chaturthee)

भारत में लोग कोई भी नया काम शुरू करने से पहले भगवान गणेश की पूजा करते हैं। भगवान गणेश को विनायक और विघ्नहर्ता, रिद्धि-सिद्धि और बुद्धि का दाता भी कहा जाता है। इसलिए आज के इस लेख में हम आपको गणेश चतुर्थी क्या है, और 2022 में ये कब पड़ने वाली है इसकी पूरी जानकारी प्रदान करेंगे। आइये जानते है कुछ रोचक बातें….

Story Of Ganesh Chaturthi: क्यों मनाई जाती है गणेश चतुर्थी, हिन्दू धर्म में क्या है इसका महत्व (Kyon Manaee Jaatee Hai Ganesh Chaturthee)

Story of Ganesh Chaturthi: भारत में कई त्योहार मनाए जाते हैं। उनमें से एक है गणेश चतुर्थी का पर्व। वैसे तो गणेश जी की पूजा को गणेश चतुर्थी कहा जाता है, लेकिन आप में से कई ऐसे भी हैं जो नहीं जानते कि गणेश चतुर्थी क्यों मनाई जाती है? तो चलिए आपको गणेश चतुर्थी के बारे में विस्तार पूर्वक बताते है। 

वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दे कि गणेश चतुर्थी को भगवान गणेश के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। वह भगवन शिव और माता पार्वती के पुत्र हैं। वैसे तो गणेश चतुर्थी भारत के कई राज्यों में मनाई जाती है, लेकिन महाराष्ट्र के लोग इस त्योहार का बेसब्री से इंतजार करते हैं।

भगवान गणेश ज्ञान, समृद्धि और सौभाग्य के प्रतीक हैं। भारत में लोग कोई भी नया काम शुरू करने से पहले भगवान गणेश की पूजा करते हैं। भगवान गणेश को विनायक और विघ्नहर्ता भी कहा जाता है। गणेश जी को रिद्धि-सिद्धि और बुद्धि का दाता भी माना जाता है। इसलिए आज के इस लेख में हम आपको गणेश चतुर्थी क्या है, और 2022 में ये कब पड़ने वाली है इसकी पूरी जानकारी प्रदान करेंगे। आइये जानते है कुछ रोचक बातें…..

गणेश चतुर्थी क्या है? (What is Ganesh Chaturthi)

गणेश चतुर्थी जिसे विनायक चतुर्थी के नाम से भी जाना जाता है, वास्तव में एक हिंदू त्योहार है। इस त्योहार के दौरान लोग भगवान गणेश की पूजा करते हैं। गणेश चतुर्थी की शुरुआत वैदिक भजनों, प्रार्थनाओं और हिंदू ग्रंथों जैसे गणेश उपनिषद से होती है। प्रार्थना के बाद भगवान गणेश को मोदक चढ़ाने के बाद, मोदक को प्रसाद के रूप में लोगों के बीच बांट दिया जाता है।

बहुत से लोग इन दिनों भंडारे भी करते हैं, और घरो में सजावट भी बहुत अच्छी करते है। इस पर्व में पूरा वातावरण भक्तिमय हो जाता है। गणेश चतुर्थी के दौरान सुबह और शाम भगवान गणेश की आरती की जाती है और लड्डू और मोदक का प्रसाद चढ़ाया जाता है। इस त्योहार को मुख्यतः महाराष्ट्र में विशेष रूप से मनाया जाता है और वहां दूर-दूर से लोग गणेश चतुर्थी को देखने आते हैं।

गणेश चतुर्थी 2022 तिथि और शुभ मुहूर्त (ganesh chaturthi 2022 date and auspicious time)

हिंदू पंचांग के अनुसार इस बार गणेश चतुर्थी 31 अगस्त से शुरू हो रही है. चतुर्थी तिथि 30 अगस्त, मंगलवार को दोपहर 3:33 बजे शुरू होगी और 31 अगस्त को दोपहर 3:22 बजे समाप्त होगी. उदयतिथि के आधार पर 31 अगस्त को गणेश चतुर्थी का व्रत रखा जाएगा. इस दिन गणेश जी की पूजा का शुभ मुहूर्त दोपहर 11:05 से 1:38 तक है। वहीं गणेश विसर्जन 09 सितंबर 2022 को किया जाएगा।

गणेश चतुर्थी क्यों मनाते हैं? (When is Ganesh Chaturthi in 2022)
भारत के लोगों का मानना है कि, भगवान गणेश सुख और समृद्धि के दाता है। और भगवान गणेश उनकी सभी बाधाओं को दूर करते हैं। इसलिए गणेश जी को प्रसन्न करने के लिए लोग उनके जन्मदिन को गणेश चतुर्थी ke rup me मानते हैं।

त्योहार के लिए लोग तरह-तरह के पकवान बनाते हैं। जिसमे सबसे जयदा बनाने वाला पकवान है मोदक। हिन्दू धर्म में गणेश जी की पूजा करना बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि जो लोग पूरी श्रद्धा और विश्वास के साथ उनकी पूजा करते हैं उन्हें सुख, ज्ञान, धन और लंबी उम्र की प्राप्ति होती है। और उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

गणेश चतुर्थी के मुख्य मंत्र क्या हैं? (What are the main mantras of Ganesh Chaturthi)

गणेश चतुर्थी में प्रयुक्त होने वाले मंत्रों में सबसे महत्वपूर्ण है,

वक्रतुंड महाकाय, सूर्यकोटी समप्रभ।

निर्विध्नं कुरु मे देव, सर्वकार्येषु सर्वदा।।

आपकी प्रतिक्रिया क्या है?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow